Ghamand Shayari

क्या आप Ghamand Shayari ढूंड रहे है? तो सही जगह पर है पढ़िए Ghamand Shayari in Hindi और शेयर करें सोशल मीडिया पर दोस्तों के साथ

घमंड एक ऐसी चीज जो किसी को भी हो जाता है थोडा बहुत पा लेने के बाद और उसके बाद वो हैसियत या औकात की बाते करने लग जाते है उन्ही के लिए हम लेके आये है Ghamand Wali Shayari जिनको आप निच्चे पढ़ सकते है.

इन Ghamand Ki Shayari में बहुत ही अच्छी अच्छी शायरी इकट्ठी करके लेके आये है ये Ghamand Shayari Hindi आप उन लोगो के साथ भी शेयर कर सकते है जिनको अपने आप पर ज्यादा ही घमंड है ताकि आप उनको सच्चाई से रूबरू करवा सके.

और उसके साथ साथ आप इन Guroor Shayari को Facebook, Whatsapp और Instagram पर शेयर कर सकते है उमीद करते है आपको ये Ghamand Par Shayari पसंद आयेंगी और निच्चे कमेंट करके जरुर बताये आपको ये Ghamand Shayari कैसी लगी.


Ghamand Shayari


Ghamand Shayari

घमंड न करना जिन्दगी में तकदीर बदलती रहती हैं,
शीशा वही रहता हैं बस तस्वीर बदलती रहती हैं..!!

कभी किसी चीज का घमण्ड आ जाए तो,
शमशान का एक चक्कर लगा आना,
तुम से बेहतरीन लोग वहां राख बने पड़े है..!!

तोड़ना हीं है अगर तो घमण्ड तोड़ना,
रिश्तें तो ग़लतफहमी में भी टूट जाते हैं..!!

चीजें अक्सर छोटी लगती हैं,
जब कोई दूर से या गुरूर से देखता हैं..!!

मुझे घमण्ड था अपने चाहने वालो का इस दुनिया में
वक्त क्या पलट गया सब की असलियत सामने आ गई..!!

मत कर इतना घमंड इस खूबसूरती,
पर नहीं तो बहुत शर्मिंदा होना पड़ेगा,
अभी वक्त है संभल जाओ नहीं तो रोना भी पड़ेगा..!!

मुझे लगा तू मेरे प्यार से अंजानी है,
पर मैं नहीं जानता था कि घमंड तेरी निशानी है..!!

मुझे घमंड था की मेरे चाहने वाले बहुत है इस दुनिया में,
बाद में पता चला की सब चाहते है अपनी ज़रूरत के लिए..!!

किसी की ज्यादा तारीफ नहीं किया करते,
सुना है घमंड से रिश्ता जल्दी हो जाता है..!!

मत इतरा अपने गुरूर के मकान पर,
ये बनता नहीं अगर एक मजदूर न होता..!!


Ghamand Shayari in Hindi


Ghamand Shayari in Hindi

अगर ज्यादा ही घमंड है तो एक बार समशान होकर जरूर आना,
वहां जाकर देखना तुमसे भी ज्यादा हेशियत वाले राख में मिले पड़े हैं..!!

गुरूर तो होना था हमारी मोहब्बत को देख कर,
मगर वो अपनी कदर देख कर हमारी कीमत भूल गए..!!

वक्त तो सबका बदलता रहता है इस पर घमंड क्या करना,
कुर्सी तो वही रहेगी बस आने जाने वाले लगे रहेंगे..!!

सूरज चाँद और सितारे मेरे साथ में रहे,
जब तक तुम्हारा हाथ मेरे हाथ में रहे,
शाखों से जो टूट जाये वो पत्ता नहीं हैं हम,
आंधी से कोई कह दे कि औकात में रहे..!!

आपका व्यवहार तय करेगा,
आपसे बात कितनी करनी है..!!

जीत किसके लिए हार किसके लिए,
जिन्दगी भर ये तकरार किसके लिए,
जो भी आया हैं वो जाएगा एक दिन,
फिर ये इतना अहंकार किसके लिए..!!

तुझसे अलग होने के बाद मुझे तेरे घमंड का पता चल गया,
लोग सिर्फ पैसे वाले इंसानों से ही बात करना पसंद करते हैं..!!

जो लोग मुझे समझ ना सके,
उन्हें हक़ है कि मुझे बुरा ही समझे..!!

वक़्त अच्छा आने पर कभी घमण्ड ना करना,
क्योंकि वक़्त का क्या है देखते ही गुज़र जाएगा..!!

उसे घमण्ड था के वो इश्क में नहीं है,
मैने उसकी ये गलतफ़हमी भी दूर कर दी..!!


Rishte Ghamand Shayari


Rishte Ghamand Shayari

वक्त और किस्मत पर कभी घमंड ना करो,
सुबह उनकी भी होती है जिन्हे कोई याद नही करता..!!

क्यों करती है दुनिया घमंड सूरत पे,
जब कि सारा कुसूर तो सीरत का है..!!

घमंड तो बस यह मन करता है,
वरना शरीर तो दो गज जमीन में भी लेट जाता है..!!

किस बात का इतना घमंड,
किस बात का इतना गुरूर,
वक़्त के हाथों बने सब शेर,
वक़्त ही करे सब चकनाचूर..!!

घमंड हो जाता है इंसान को छोटी-छोटी बात पर,
इंसान का घमंडी होने के लिए बड़ा होना ज़रूरी नहीं है..!!

घमंड से हर कोई दूर होता है,
एक ना एक दिन तो घमंड चूर होता है..!!

बारिश को होता है यकीन पानी की बूंद पर,
भरोसा रखना मगर घमंड ना करना खुद पर..!!

घमंड तो इन सड़कों को भी था अपने लम्बे चौड़े होने का,
गरीबो के बच्चो ने इन्हें पैदल ही चलकर नाप लिया..!!

जब घमंड तेरा हद पार कर जाए तो,
तब शमसान का एक चक्कर लगा आना,
तुजसे बेहतरीन लोग वहां राख बने पड़े है..!!

घमंड का पारा जब सर चढ़ जाता है,
इंसान अपनी हद से आगे बढ़ जाता है..!!


Paiso Ka Ghamand Shayari


Paiso Ka Ghamand Shayari

वो छोटी-छोटी उड़ानों पे गुरूर नहीं करता हैं,
जो परिंदा अपने लिए आसमान ढूढ़ता हैं..!!

उसने कहा आपमे क्या हुनर है,
मैने कहा घमंड तोड़ने का..!!

इतना क्यों इतराते हो बुलन्दियो पर पहुंच कर,
तुम अकेले थोड़ी हो आज आपका वक्त है कल हमारा भी होगा..!!

ये रात भी गुजर जाएगी,
इस रात की महफ़िल का घमंड मत करना..!!

मैं उसके प्यार में पागल होता रहा,
और मैं उसका प्यार था उसे इसका घमंड होता रहा..!!

इतने अच्छे अच्छे विचार हैं इस जग में,
उन सबको धारण करो क्या रखा है इस घमंड में..!!

उसकी नज़रे झुकी थी पर,
उसकी सादगी में गुरूर पूरा था..!!

जो तूने कहा उसे मैं सिर झुका कर मान लेता,
बस ये घमंड में नहीं हसकर कहा होता..!!

राज तो हमारा हर जगह पे है,
पसंद करने वालों के दिल में,
और नापसंद करने वालों के दिमाग में..!!

मुझे तलाश है जो मेरी रुह से प्यार करे,
वरना इन्सान तो पैसों से भी मिल जाया करते हैं..!!

हमको खरीदने की कोशिश मत करना,
हम उन पुरखो के वारिस है जिन्होने ‪मुजरे में ‬हवेलिया दान कर दी थी..!!


Daulat Ka Ghamand Shayari


Daulat Ka Ghamand Shayari

उस जगह पे हमेशा खुश रहना,
जहाँ 2 कौड़ी के लोग अपनी हैसियत के गुण गाते है..!!

घमंड से हर कोई दूर होता है,
एक ना एक दिन तो घमंड चूर होता है..!!

मनुष्य अपने अहंकार से,
खुद के रिश्तों को नष्ट कर देता है..!!

घमंड और पेट जब ये दोनों बढ़ते है,
तब इंसान चाह कर भी किसी को गले नहीं लगा सकता..!!

मत कर इतना घमंड इस खूबसूरती पर नहीं तो बहुत शर्मिंदा होना पड़ेगा,
अभी वक्त है संभल जाओ नहीं तो रोना भी पड़ेगा..!!

मुझे लगा तू मेरे प्यार से अंजानी है,
पर मैं नहीं जानता था कि घमंड तेरी निशानी है..!!

लोगो से कह दो हमारी तकदीर से जलना छोड़ दे,
हम घर से दवा नही माँ की दुआ लेकर निकलते है..!!

घमंड करु भी तो किस बात का करू,
मरने के बाद मेरे अपने ही मुझे छूने के बाद हाथ धोएंगे..!!

चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह,
मगर ख़ामोश हूँ अपनी तक़दीर की तरह..!!

गुरूर के भी अजब हैं किस्से ,
आज मिट्टी के ऊपर कल मिट्टी के नीचे..!!

कहीं का ग़ुस्सा कहीं की घुटन उतारते हैं,
ग़ुरूर ये कि हम काग़ज़ पे फ़न उतारते हैं..!!

बोल दिया होता तुम्हे दर्द देना है ऐ ज़िंदगी,
मोहब्बत को बीच में लाने की क्या जरुरत थी..!!


Final Words


आपको ये ब्लॉग Ghamand Shayari in Hindi कैसा लगा कमेंट करके जरुर बताएं! इसके आलावा भी अगर ब्लॉग या वेबसाइट से संबधित कोई Suggestion या Advice है। तो दे सकते है हम उसमे सुधार करने की कोशिश करेंगे!

अगर आपको Ghamand Shayari पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें! और हमे FacebookInstagram और Pinterest पर भी फॉलो कर सकते है..!! धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top