Bharosa Shayari

क्या आप Bharosa Shayari ढूंढ रहे है तो पढिए Best Bharosa Shayari in Hindi या Vishwas Shayari या Trust Shayari और शेयर करें सोशल मीडिया पर


Bharosa Shayari


Bharosa Shayari
Bharosa Shayari

मैं माफ़ तो हर बार करता हूं,
लेकिन भरोसा सिर्फ एक बार करता हूं..!!

ज़िन्दगी बड़ी हसीन है उसे प्यार करो ,
अभी हैरात तो सुबह का इंतजार करो,
वो पल भी आएगा जिसका इंतजार है आपको,
बस खुदा पर भरोसा रखो और वक्त पर ऐतबार करो..!!

भरोसा कांच की तरह होता है,
जो एक बार टूट जाने पर कितना भी जोड़ लो ,
चहेरा अलग अलग ही दिखाई देगा..!!

भरोसा रखिये अपने खुदा पर ये बुरा वक्त भी गुजर जायेगा,
आने वाला हर एक पल आपके लिए ढेर सारी ख़ुशियाँ लाएगा..!!

किसी पर इतना भरोसा मत कीजिये की,
बाद में किसी पर भरोसा ही न रहे..!!

खुश रहने के लिए कभी खुद से भी कोशिश करनी चाहिए,
दुसरो पर भरोसा करके अक्सर लोगो को रोते हुए ही देखा है..!!

बाते मोहब्बत की कभी हम भी किया करते थे,
बहुत पहले ही सही लेकिन लोगो पर भरोसा हम भी किया करते थे..!!

लोगों पर भरोसा करने का इतना शौक न रखो,
की खुद से भरोसा उठ जाये..!!

जहाँ भरोसा हो,
वहां कसमों वादों की कोई जगह नहीं होती..!!

जब जब भरोसा किया है मेने तब तब भरोसा टूटा है मेरा,
अब तो किसी पर भरोसा करने का मन ही नही करता है मेरा..!!


Bharosa Shayari in Hindi


Bharosa Shayari in Hindi
Bharosa Shayari Hindi

किसी पर खुद से भी ज्यादा भरोसा करना,
और उस भरोसे का टूटना तो जैसे दस्तूर हो जिंदगी का..!!

भरोसा कर के तुम पर जो मैने तुम्हारा हाथ थाम लिया,
भरोसा भी न रहा मेरे भरोसे पे के तुमने मेरा साथ छोड़ दिया..!!

लोगो के पास बहुत कुछ है मगर मुश्किल यही है,
कि भरोसे पे शक है और अपने शक पे भरोसा है..!!

जो चाहे वो पा लेता है इंसान विश्वास मे इतना दम होता है,
जो इंसान को ईश्वर देता है वो कभी भी कम नही होता है..!!

जानकार उनको इस बात को जाना है हमने,
किस कदर पलटते हैं यह खुद को दोस्त कहने वाले..!!

सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनो पर भी शक करना,
मेरी फितरत मे तो गैरों पर भी भरोसा करना था..!!

यह चमत्कार केवल विश्वास ही कर सकता है,
जो पत्थर को भी भगवान कर सकता है..!!

वो मुझ को भूल चुका अब यक़ीन है वर्ना,
वफ़ा नही तो जफ़ाओ का सिलसिला रखता..!!

दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया,
मेरा भरोसा मजाक बनकर रह गया,
दिल के सोदागरो से दिल्लगी कर बैठे शायद,
इसीलिए मेरा प्यार इक अल्फाज बनकर रह गया..!!

कीमत पानी की नही प्यास की होती है
कीमत मौत की नही साँस की होती है,
प्यार तो बहुत करते है दुनिया मे,
कीमत प्यार की नही विश्वास की होती है..!!


Sad Bharosa Shayari 2 Lines


Sad Bharosa Shayari
Sad Bharosa Shayari

प्यार में बस एक भरोसा होना चाहिए,
शक तो पूरी दुनिया करती है..!!

वाह ए ख़ुश फ़हमी कि पर्वाज़ ए यक़ी से भी गए,
आसमाँ छूने की ख़्वाहिश मे ज़मी से भी गए..!!

ना रुक ना झुक रख भरोसा बस चलता जा,
मंज़िल ना मिले तब तक बस बढ़ता जा..!!

यूँ मुलाक़ात का ये दौर बनाए रखिए,
मौत कब साथ निभा जाए भरोसा क्या है..!!

मेरे दिल कि सरहद को पार न करना,
नाजुक है दिल मेरा वार न करना,
खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना..!!

जिन्हे फ़िक्र थी कल की वो रोये रात भर,
जिन्हे यकीन था रब पर वो सोये रात भर..!!

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल,
हौसला किस का बढ़ाता है कोई..!!

हर रिश्ते मे विश्वास रहने दो,
जुबान पर हर वक्त मिठास रहने दो,
यही तो अंदाज है जिन्दगी जीने का,
न ख़ुद रहो उदास न दूसरों को रहने दो..!!

न कोई वादा न कोई यक़ीं न कोई उम्मीद,
मगर हमें तो तेरा इंतिज़ार करना था..!!

भरोसा दूसरों पर रखो तो गम दे जाती है,
भरोसा ख़ुद पर रखो तो ताकत बन जाती है..!!


Rishte Bharosa Shayari


Rishte Bharosa Shayari
Rishte Bharosa Shayari

नसीब से ज्यादा भरोसा तुम पर किया,
फिर भी नसीब इतना नहीं बदला जितना तुम बदल गए..!!

दीवारे छोटी होती थी लेकिन पर्दा होता था,
ताले की ईजाद से पहले सिर्फ़ भरोसा होता था,
जब तक माथा चूम के रुख़्सत करने वाली ज़िंदा थी,
दरवाज़े के बाहर तक भी मुँह मे लुक़्मा होता था..!!

रख भरोसा खुद पर क्यो ढूंढता है,
फरिश्ते पंछियों के पास कहां होते है,
नक्शे फिर भी ढूंढ लेते है रास्ते..!!

विश्वास जीतना बड़ी बात नही है,
विश्वास बनाए रखना बड़ी बात है..!!

खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना..!!

भरोसा कर लिया है मैंने तेरे झूठ पर भी,
तुझे खुदा जो माना है..!!

भरोसा क्या करना गैरो पर जब खुद गिरना है,
चलना है अपने ही पैरो पर..!!

वहम था मेरा जो तुम पर भरोसा किया,
लोगों ने तो सिर्फ दिल तोड़ा था,
तुमने तो मेरा रूह निचोड़ दिया..!!

भरोसा तब नहीं टूटता जब कोई रूठ जाता है,
भरोसा तब टूटता है जब कोई दिल तोड़ जाता है..!!

आज शाम हुई कल फिर सूरज निकलेगा,
भरोसा रख अपने आप पर हर पल तू निखरेगा..!!


Dosti Bharosa Shayari


Dosti Bharosa Shayari
Dosti Bharosa Shayari

हम समझदार भी इतने हैं के उनका झूठ पकड़ लेते है,
और उनके दिवाने भी इतने के फिर भी यकीन कर लेते हैं..!!

कोई भरोसे के लिए रोता है,
कोई भरोसा करके रोता है..!!

उसकी हँसी पर क्या भरोसा करना,
जो शख़्स खुलकर कभी रोया न हो..!!

अक्सर बुरी सीरतों की सूरतें भी हसीन हुआ करती हैं,
संभलना लोग भरोसे पर छुरी चलाते कतराते नहीं हैं..!!

दिल हमारा तोड़ दिया कोई बात नई,
गलती तुम्हारी नहीं हमारी है,
क्योकि हमने आप पर भरोसा किया था,
आपने हम पर नहीं..!!

गिर पड़े उस पत्थर से टकरा कर ज़मीं पर हम,
भरोसे की नीव कह जिसे कभी अपनों ने रखा था..!!

जब सब तोल रहे थे मुझे ना उम्मीदी के तराज़ू में,
एक वही तो था जिसने भरोसा जताया मुझ में..!!

भरोसे के बाज़ार में जिंदगी बेची थी मैंने,
तब जा के कहीं पाया हैं ये लेहजा मैंने..!!

झड़ गए पत्ते उम्मीदों के सारे,
मग़र जड़ भरोसे की मजबूत बहुत है..!!

अब इन लहरो पर क्या भरोसा करूं,
जब वो मेरे विपरीत ही चल रही है,
मुझे तो इन हवाओं पर भरोसा है,
जो मेरे पतवार को सहारा दे रही है..!!


Trust Shayari


Trust Shayari
Trust Shayari

एक में ही था जो तुम पर भरोसा कर बैठा,
वरना बताने वालो ने सब कुछ ठीक ही बताया था..!!

जिंदगी के ज़हर को यूँ हँस के पी रहे हैं,
तेरे प्यार बिना यूँ ही ज़िन्दगी जी रहे हैं,
अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें,
तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे हैं..!!

अपने प्यार में भरोसा होना चाहिए,
क्योकि शक तो पूरी दुनिया करती है..!!

लोग धोखा देखर भी सही साबित हो गए,
और हम भरोसा करके भी गुनेगार साबित हो गए..!!

मैने दिल लगाया और तुमने दिमाग लगाया,
मैने भरोसा किया और तुमने भरोसे का फायदा उठाया..!!

कभी-कभी खुदा हमें जान बूझकर मुश्किल में डालता है,
ताकि हमें उन लोगो के चहेरो पर लगे नकाब देख सके,
जिन पर हम आंख बांधकर भरोसा करते है..!!

मुझे खामोश देखकर इतना हैरान क्यों होते हो यारो,
कुछ नहीं हुआ है मुझे बस भरोसा करके धोखा खाया है मैने..!!

बेशक किसी को माफ़ बार बार करो लेकिन,
उन पर भरोसा सिर्फ एक बार ही करो..!!

सीखा दिया इस दुनिया ने मुझे अपने आप पर शक करना,
वरना हमारी फितरत थी गैरो पर भी भरोसा करना..!!

हमेंशा तैयारी के साथ ही रहना साहब,
क्योकि मौसम और इंसान कब बदल जाये,
उनका कोई भरोसा नहीं है..!!


Vishwas Shayari


Vishwas Shayari
Vishwas Shayari

जब किसी पर से भरोसा उठ जाये तो हमें कुछ,
फर्क नहीं पड़ता की वो कसम खाये या ज़हर खाये..!!

इंसान को अपनी औकात का पता तब चलता है,
जब उसे वहां से ठोकर मिले, जहाँ उसने सबसे ज्यादा भरोसा किया हो..!!

इंसान हसता तो सबसे सामने है, लेकिन रोता उसी के सामने है,
जिन पर उसे अपने आप से भी ज्यादा भरोसा होता है..!!

जिससे हमें पूरी उम्मीद हो अगर वही हमारा दिल दुखा दे,
तो पूरी दुनिया से हमारा भरोसा उठ जाता है..!!

ना कोई शिकायत है आपसे न कोई भरोसा है आप पर,
ये सिखाया है हमें आपने की प्यार एक धोखा है..!!

भरोसा सब पर करो पर सावधानी से करो,
क्योकि कभी कभी खुद के दांत भी जीभ काट लेते है..!!

भरोसा खुदा पर है तो जो होगा किस्मत में वो ही मिलेगा
लेकिन भरोसा अपने आप पर है तो,
खुदा वही लिखेगा जो आप चाहेंगे..!!

कभी भी किसी का प्यार और भरोसा मत खोना,
क्योकि प्यार हर किसी से नहीं होता,
और भरोसा हर किसी पे नहीं होता..!!

लोगो के पास बहुत कुछ हैं मगर मुश्किल यही है कि,
भरोसे पर शक हैं और अपने शक पे भरोसा हैं..!!

मेरी हैसियत से ज्यादा तूने मेरी थाली में परोसा है,
तू लाख मुश्किलें दे ए खुदा मुझे तुझ पर भरोसा है..!!


Final Words


आपको ये ब्लॉग Bharosa Shayari in Hindi और Vishwas Shayari और Trust Shayari कैसा लगा कमेंट करके जरुर बताएं! इसके आलावा भी अगर ब्लॉग या वेबसाइट से संबधित कोई Suggestion या Advice है। तो दे सकते है हम उसमे सुधार करने की कोशिश करेंगे!

अगर आपको Bharosa Shayari पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें! और हमे FacebookInstagram और Pinterest पर भी फॉलो कर सकते है..!! धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top