[50+] Barish Shayari in Hindi (OCT 2021) | बारिश शायरी | Rain Shayari

इस बारिश के मौसम में क्या आप भी Barish Shayari ढूंड रहे है? तो पढ़िए Best Barish Shayari in Hindi और शेयर करें Facebook, Whatsapp और Instagram पर


Barish Shayari


Barish Shayari
Barish Shayari

मुझे ऐसा ही जिन्दगी का हर एक पल चाहिए,
प्यार से भरी बारिश और संग तुम चाहिए..!!

कोई रंग नहीं होता बारिश के पानी में,
फिर भी फ़िजा को रंगीन बना देता है..!!

बारिशों की इन बूंदो में हम अपने आंसू छुपाते है,
हमारी इश्क की दास्तान हम मुस्कुराहट में दफन कर देते है..!!

ए बारिश यूं ना सता मुझे अब वो,
हमसफर मेरा नहीं किसी और का हैं..!!

हवा संग बह चला जाएगा ये बादल भी मगर,
ये मेरे शहर आया है अब अदब से भीगना होगा..!!

हर सावन का अपना तराना होता है,
हर बूंद में यादों का खजाना होता है,
कहने को तो सिर्फ बरसात का पानी है,
पर किसीके लिए ये सारी जिंदगानी है..!!

बस एक तेरे संग भीगे हम,
मुझे उस बारिश की तलाश है..!!

शायरों की बस्ती में कदम रखा तो जाना,
कि मेरे शहर से ज्यादा बारिश इनके दिल में होती है..!!

घटाए हैं काली आसमान में सर्द बारिश हो रही है,
रह रह कर मुस्कुरा रहा हूँ और तेरी गुजारिश हो रही है..!!

पहले बारिश होती थी तो याद आते थे,
अब जब याद आते हो तो बारिश होती है..!!


Barish Shayari in Hindi


Barish Shayari in Hindi
Barish Shayari in Hindi

ये बारिश का मौसम और तुम्हारी याद
चलो फिर मिलते हैं एक कप चाय के साथ..!!

तुम्हारे चेहरे का मौसम बड़ा सुहाना लगे,
मैं थोडा लुफ्त उठा लू अगर बुरा न लगे..!!

बारिश की बूंदों का चश्मदीद गवाह बनने चाहता हूं,
मैं तेरे साथ एक चाय की चुस्की भरना चाहता हूं..!!

आ जाओ तुम भी कभी यूँ ही कड़ी धूप में,
रूह को सुकून देने वाली बारिश के रूप में..!!

ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में,
तेरे यहाँ जाम लगता है, मेरे यहाँ जाम लगते हैं..!!
 
इन बारिश से कह दो इतना मेहरबान होने की जरूरत नही,
यहाँ हमारे तो अरमान ही डूबे जा रहे हैं..!!

कुछ तो चाहत होगी इन बारिश की बूंदो की,
वरना कौन गिरता है इस ज़मीन पर आसमान तक पहुँचने के बाद..!!

हुस्न परि हो साथ और बेमौसम बरसात हो जाए,
छतरी कौन खरीदेगा फिर जितनी बारिश हो जाए..!!

ये बारिशों से दोस्ती अच्छी नहीं फ़राज़,
कच्चा तेरा मकान है कुछ तो ख्याल करो..!!

उनके मिलन से महक उठी थी फ़िज़ाएँ,
सौंधी खुशबू ने बारिश की थी ना मिट्टी की..!!


Shayari on Barish


Rain Shayari
Shayari on Barish

किया न करो मुझसे इश्क़ की बातें,
बिन बारिश के ही भीग जाती हैं रातें..!!

आसमान रो रहा था मेरे साथ,
और उसे बारिश में नहाने का शौक चढ़ा था..!!

आशिक तो आँखों की बात समझ लेते हैं,
सपनो में मिल जाये तो मुलाकात समझ लेते हैं,
रोता तो आसमान भी है अपने बिछड़े प्यार के लिए,
पर लोग उसे बरसात समझ लेते हैं..!!

क्या तमाशा लगा रखा है तूने ए-बारिश बरसना ही है तो जम के बरस,
 वैसे भी इतनी रिमझिम तो मेरी आँखो से रोज हुआ करती है..!!

मजबूरियाँ ओढ़ के निकलता हूँ घर से आजकल,
वरना शौक तो आज भी है बारिशो में भीगने का..!!

ये हल्की-हल्की सर्द हवाएं ये बारिश का मौसम,
मैं तुममें पूरा रहता हूं तुम मुझमें क्यों रहती हो कम..!!

काश मेरी जिंदगी में कोई ऐसा आता,
मैं बारिश में भी रोता तो वो मेरे आंसू पढ़ जाता..!!

न जाने क्यू अभी आपकी याद आ गयी, 
मौसम क्या बदला बरसात भी आ गयी,
मैंने छुकर देखा बूंदों को तो,
हर बूंद में आपकी तस्वीर नज़र आ गयी..!!

कुछ नशा तेरी बात का है, कुछ नशा धीमी बरसात का है,
हमे तुम यूँही पागल मत समझो,
यह दिल पर असर पहली मुलाकात का है..!!

यूँ तो ख़्वाहिशें बहुत थी दिल को बारिशो की,
अबके बरस अश्को से रू-ब-रू इरादे धूल गये..!!


Best Barish Shayari Hindi


बारिश शायरी
Best Barish Shayari Hindi

ए बारिश तू इतना न बरस की वो आ न सके,
और उसके आने के बाद इतना बरस की वो जा न सके..!!

नैनों से अब बारिश होती है मेरी,
पलकों के कोनों से नींद रोती है मेरी..!!

मोहब्बत तो वो बारिश है जिसे छूने की चाहत मैं,
हथेलियां तो गीली हो जाती है पर हाथ खाली ही रह जाते है..!!

पहली बारिश का नशा ही कुछ अलग होता है,
पलको को छूते ही सीधा दिल पे असर होता है..!!

मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है
बारिश के हर कतरे से सिर्फ तुम्हारी आवाज़ आती हे..!!

इस बरसात में हम भीग जायेंगे,
दिल में तमन्ना के फूल खिल जायेंगे,
अगर दिल करे मिलने को तो याद करना,
बरसात बनकर बरस जायेंगे..!!

अगर भीगने का इतना ही शौक है,
बारिश मे तो देखो ना मेरी आँखों मे, 
बारिश तो हर एक के लिए होती है,
 लेकिन ये आँखें सिर्फ तुम्हारे लिए बरसती है..!!

बारिश और मोहब्बत दोनों ही यादगार होते है,
बारिश में जिस्म भीगता है और मोहब्बत में आँखे..!!

कहीं फिसल न जाऊं तेरे ख्यालों में चलते-चलते,
अपनी यादों को रोको मेरे शहर में बारिश हो रही है..!!

हम जानते हैं कि आपने बारिश की बूंदों को देखा है,
पर मेरी नज़रों में ये सावन आज भी हारता है..!!

ए बारिश कहीं और जा के बरसा कर,
मेरा दिल बहुत कमजोर है बात बात पर रोया करता है..!!


Rain Shayari


बारिश शायरी हिंदी
Rain Shayari

ज़रा ठहरो बारिश थम जाए तो फिर चले जाना,
किसी का तुझ को छू लेना मुझे अच्छा नहीं लगता..!!

रिमझिम तो है मगर सावन गायब है,
बच्चे तो हैं मगर बचपन गायब है,
क्या हो गयी है तासीर ज़माने की यारो,
अपने तो हैं मगर अपनापन गायब है..!!

बहुत दिनों से थी ये आसमान की साजिश,
आज पुरी हुई उनकी ख्वाहिश,
भीग लो अपनों को याद कर के,
मुबारक हो आपको साल की ये पहली बारिश..!!

मेरे दिल की जमीन बरसों से बंजर पडी है,
मै तो आज भी बारिश का इन्तेजार कर रहा हूँ..!!

जब जब आता है यह बरसात का मौसम,
तेरी याद होती है साथ हरदम,
इस मौसम में नहीं करेंगे याद तुझे यह सोचा है हमने,
पर फिर सोचा की बारिश को कैसे रोक पाएंगे हम..!!

बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने,
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है..!!

वो मेरे रूबरू आया भी तो बरसात के मौसम में,
मेरे आंसू बह रहे थे और वो बरसात समझ बैठा..!!

ग़म-ए-बारिशे इसीलिए नहीं कि तुम चले गए,
बल्कि इसलिए कि हम ख़ुद को भूल गए..!!

नैनों से अब बारिश होती है मेरी,
पलकों के कोनों से नींद रोती है मेरी..!!

बारिश सुहानी और मोहब्बत पुरानी,
जब भी मिलती है नई सी लगती है..!!

हमारे शहर आ जाओ सदा बरसात रहती है,
कभी बादल बरसते है कभी आँखे बरसती है..!!


Final Words


आपको ये ब्लॉग Best Shayari on Barish in Hindi और Rain Shayari कैसा लगा कमेंट करके जरुर बताएं! इसके आलावा भी अगर ब्लॉग या वेबसाइट से संबधित कोई Suggestion या Advice है। तो दे सकते है हम उसमे सुधार करने की कोशिश करेंगे!

अगर आपको Barish Shayari पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें! और हमे FacebookInstagram और Pinterest पर भी फॉलो कर सकते है..!! धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top